• Wed. Jun 26th, 2024

उत्तराखण्ड दर्शन

समस्त उत्तराखण्ड आपके मोबाईल पर

 अंधकार में डूबे रहे सल्ट और रानीखेत के 90 गाँव 

खराब मौसम ने सल्ट और रानीखेत के गांवों के लोगों पर बुरा प्रभाव डाला है। सल्ट और रानीखेत के 90 गांवों में विद्युत आपूर्ति न होने के कारण वहाँ के निवासी परेशानी का सामना कर रहे हैं। बिजली न होने के कारण गांवों के लोगों को पानी की समस्या भी झेलनी पड़ रही है। 

रानीखेत के चिलियानोला और गनियाद्योली में भी विद्युत आपूर्ति ठप रही। करीब 25 हजार लोग इस परेशानी से प्रभावित रहे। बिजली आपूर्ति न होने के कारण शशिखाल-कोटेश्वर पम्पिंग योजना ठप होने से लोगों को पानी के लिए तरसना पड़ा।  

क्या रहा बिजली कटौती का मुख्य कारण?

देर शाम रानीखेत और सल्ट के गांवों  में तेज़ अंधड़ और बारिश रही जिससे बिजली की लाइनों में पेड़ गिर गए और करीब 90 गांवों की बिजली चली गई। यूपीसीएल देर रात तक गांवों में बिजली लाने का पूर्ण प्रयास करती रही किन्तु टीम असफल रही। टीम को काम करते वक्त काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा किन्तु आंधी व बारिश के कारण लाइन में 15 पेड़ गिरे हुए थे जिससे उन्हें काम करने में भारी मेहनत करनी पड़ी। 

उत्तराखंड में लगने वाली जंगलों की आग के कारण पेड़ कमजोर हो चुके हैं जिससे वह पेड़ तूफान एवं तेज़ हवा में गिर जा रहे हैं। लाइनों के ऊपर पेड़ गिरने का एक कारण यह भी है जिससे गांवों तक बिजली गांवों तक नहीं पहुँच पा रही है। इस वजह से यूपीसीएल को भी काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है और साथ ही वहाँ के रहने वाले लोगों को भी परेशानियाँ झेलनी पड़ रही हैं। 

कब तक झेलनी पड़ेंगी ऐसी असुविधाएँ?

उत्तराखंड को बने हुए आज 24 साल होने वाले हैं। बिजली आपूर्ति के लिए उत्तराखंड में टिहरी डैम जैसी योजनाएँ प्रस्तुत की गई और संचालित भी की गई किन्तु आज भी देखें तो उत्तराखंड के लोगों को बिन बिजली के रहना पड़ रहा है। बिना बिजली के साथ साथ उन्हे पानी की कमी का सामना भी करना पड़ रहा है। बीते गुरुवार सल्ट एवं रानीखेत के गांवों में लोगों को मोमबत्तियों का सहारा लेना पड़ा। बिजली आपूर्ति न होने के कारण शशिखाल कोटेश्वर पम्पिंग योजना के पम्प न चलने के कारण लोगों को पानी की समस्या का भी सामना करना पड़ा।  

इस विषय में देखें तो नेताओं के किए हुए वादे और जनता की उम्मीदों का कोई तालमेल नहीं बैठ रहा है। 

यूपीसीएल ऑफिस में सौंपा ज्ञापन 

बिजली आपूर्ति ठप रहने के कारण क्षेत्र की ग्राम प्रधान एवं क्षेत्र के नाराज लोगों ने यूपीसीएल ऑफिस पहुंचकर हंगामा किया और अपनी परेशानियों को यूपीसीएल एसडीओ तसनीफ़ अनवर को साझा की और साथ ही उन्हें ज्ञापन भी सौंपा। उन्होंने बताया कि यूपीसीएल बिजली के जर्जर खंबों को ठीक नहीं कर पा रहा है और जिससे मौसम बिगड़ने में बिजली गुल होने की समस्या बन जाती है। 

Follow by Email
WhatsApp